भक्तों की पीड़ा मुक्ति के लिए रनियापुरा में लगता है सिद्ध बाबा का दरवार

सेंवढ़ा/दतिया, 26 दिसम्बर। बीमारी से पीडि़त एंव अन्य समस्याओं से ग्रसित सैकड़ों श्रृद्धालुओं से भरे दरवार में लोग अपनी-अपनी बारी आने की आस लगाए बैठे समस्याओं से पीडि़त एक दूसरे की समस्याओं के निराकरण को देखते सुनते हुए शांति का परिचय देते हुए अपनी समस्याओं व पीड़ा को दरवार में वयां कर राहत का अनुभव प्राप्त करते हुए अपने घर को प्रस्थान करते हैं। सनक, सनंदन, सनत कुमार की तपोस्थली सनकुआ सैंबढ़ा के पास रनियापुरा गांव में सिद्ध बाबा स्थान पर लोगों की अपार भीड़ सोमवार को देखते नहीं बनती। जहां बिमारियों से ग्रसित मरीजों व दर्द से पीडि़त लोगों की बीमारियों के लिए रामनरेश व्यास महाराज द्वारा उचित उपचार के उपाय बताकर राहत प्रदान की जाती है।
सिद्ध बाबा स्थान पर मिली जानकारी के मुताबिक अनेकों लोगों को अपनी बीमारी की पीड़ा से मुक्ति मिलने के प्रमाण है, प्रतिभा मिलन पत्नी नीरज मिलन ग्वालियर अपने माता-पिता के साथ सपरिवार दरवारी में उपस्थित होकर बताया कि प्रतिभा के पेट में तीन गठानें काफी समय से परेशान कर रही थी, लम्बे इलाज के बावजूद कोई राहत नहीं मिली, तब सिद्ध बाबा स्थान पर आकर अपनी समस्या को बताया। आज तीसरी बार आईं और काफी राहत महसूस कर रही थीं, साथ ही मनोज अग्रवाल काफी समय से परेशान थे, बीमारी से आज चौथी बार आए अग्रवाल ने बताया कि अब हमें बहुत आराम मिल गया है। सतीश त्रिपाठी उदोतपुरा लहार ने बताया कि उनके पेट में पित्त की थैली में पथरी होना डॉॅक्टर ने बताया और आपरेशन की सलाह दी, लेकिन बाबा के दरवार में आकर अपनी पीड़ा व्यक्त की तो आज छटवी बार आया हूं और हमें पथरी के रोग से होने वालेे दर्दे से निजात मिल गई है, इस प्रकार सिद्ध बाबा स्थान रनियापुरा सेंबड़ा जिला दतिया में काफी दूर-दूर से आकर लोग अपनी-अपनी समस्याओं से निजात खुश हैं और अपनी इच्छानुसार सोमवार के दिन सिद्धबाबा स्थान रनियापुरा में परिक्रमा करते हुए पीड़ा से राहत महसूस कर रहे हैं।