हमें अपने औषधि ज्ञान को पुनर्जीवित करने की जरूरत है : सांसद

सुशासन दिवस पर आयुष विभाग द्वारा आयुष मेला आयोजित

भिण्ड, 25 दिसम्बर। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई की जयंती सुशासन दिवस के रूप में मनाई गई। इस अवसर पर भिण्ड-दतिया सांसद श्रीमती संध्या राय के मुख्य आतिथ्य एवं विधायक भिण्ड संजीव सिंह कुशवाह की अध्यक्षता में आयुष मेले का आयोजन नवीन कृषि उपज मण्डी परिसर में किया गया। आयुष विभाग द्वारा आयोजित मेले का शुभारंभ अतिथियों ने धनवंतरी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष देवेन्द्र सिंह नरवरिया, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती कृष्णकांता तोमर, अवधेश सिंह कुशवाह, राजेन्द्र शर्मा राजे, एसडीएम उदय सिंह सिकरवार, सीएमएचओ डॉ. यूपीएस कुशवाह, जिला आयुष अधिकारी डॉ. नीलम कुशवाह सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।
सांसद श्रीमती संध्या राय ने अपने उद्वोधन में कहा कि भारतीय जीवन पद्धति और भारतीय चिकित्सा पद्धति यही आज दुनिया में सर्वोच्च स्थान पर है। गंभीर बीमारी का कोई इलाज है तो वह भारतीय चिकित्सा पद्धति में है, आयुर्वेद में है, योग में है, हमारी औषधियों में है। उन्होंने कहा कि हमने जो औषधि ज्ञान खो दिया है जिन औषधियों के अस्तित्व को हमने समाप्त कर दिया है, उनको पुनर्जीवित करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भारतीय चिकित्सा विज्ञान और आयुष की परंपरा पर गर्व करते हुए हमें इसे फिर से धारण करने की जरूरत है।

विधायक संजीव सिंह कुशवाह ने कहा कि आज की आधुनिक जीवन शैली ठीक नहीं होने के कारण कई तरह की बीमारियां हो रही हैं। हमारे जीवन में आयुर्वेद बहुत जरूरी है। प्रकृति ने हमें बहुत कुछ दिया है। जिसमें जड़ी-बूटी औषधी गुणों से भरपूर हैं। इसका सही ढंग से उपयोग करके जीवन शैली में अपनाएं तो बहुत फायदा होगा। सभी स्वस्थ रहने के लिए आयुर्वेद को अपनाएं।
आयुष मेले में आयुष विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं जैसे देवारण्य योजना स्वर्ण प्रासन संस्कार, गैर संचारी नियंत्रण कार्यक्रम, पंचकर्म चिकित्सा, वैद्य आपके द्वार, आयुष क्योर, हेल्थ वैल नेस, योग से निरोग आदि के बारे में बताया गया। साथ ही आयुर्वेद और होम्योपैथी चिकित्सा के विशेषज्ञों द्वारा रोगियों का परीक्षण कर नि:शुल्क दवा वितरण भी किया गया। साथ ही किसानों को परंपरागत खेती से हटकर अपनी भूमि पर औषधीय खेती करने के लिए प्रेरित करते हुए शासन की देवारण्य योजना के बारे में जानकारी दी गई। शिविर में चिकित्सा विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा विभिन्न रोगों से पीडि़त लोगों की जांच कर दवा वितरित की गई। कार्यक्रम के प्रारंभ में जिला आयुष अधिकारी डॉ. नीलम कुशवाह ने आयुष मेगा शिविर के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। अंत में औषधीय पौधे और औषधीय किट भेंट कर अतिथियों को सम्मानित किया गया।