हत्या के मामले में पांच आरोपियों को आजीवन कारावास

छतरपुर, 08 सितम्बर। अपर सत्र न्यायाधीश बिजावर जिला छतरपुर श्री मनीष शर्मा की अदालत ने घर में घुस कर लाठी डंडों से मारपीट कर हत्या करने के मामले में पांच आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।
अभियोजन कार्यालय जिला छतरपुर से प्राप्त जानकारी के अनुसार फरियादी लक्ष्मीनारायण उर्फ पप्पू निवासी बिलवार ने थाना गुलगंज में उपस्थित होकर मौखिक रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि गांव में रतन शर्मा के लड़के की शादी और फलदान था। जिसमें फरियादी का निमंत्रण था। 23 जून 2017 को रात करीब 10 बजे रतन का लड़का दीपू खाना खाने के लिए बुलाने फरियादी के घर आया तो उन लोगों ने जाने से मना कर दिया। दीपू से बातचीत होने लगी तो फरियादी के भाई उमाशंकर ने कहा कि तुम लोगों से पुरानी बुराई है वह निमंत्रण में नहीं जाएगा। जिस पर से फरियादी एवं उसके भाई उमाशंकर का दीपू शर्मा से विवाद होने लगा था। तभी आरोपी रज्जू शर्मा, गुड्डा शर्मा, व वीरेन्द्र शर्मा उसके घर के अन्दर आ गए और गालियां देने लगे। आरोपी वीरेन्द्र ने एक डंडा उसके भाई उमाशंकर के सिर में मारा जिससे खून निकलने लगा और वह वहीं गिर गया, जब फरियादी का बड़ा भाई बचाने आया तो आरोपीगण रज्जू, दीपू, गुड्डा ने डंडों से उनकी भी मारपीठ की। आरोपी रज्जू कह रहा था कि इन्होंने उसकी मां की मारपीट की है, इन्हें जान से मारना है। उमाशंकर के सिर में डंडा लगने से गंभीर चोट होने के कारण उसकी इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। उक्त घटना पर थाना गुलगंज में आरोपीगण के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया एवं संपूर्ण विवेचना उपरांत मामला न्यायालय में पेश किया गया। अभियोजन की ओर से अपर लोक अभियोजक/ एडीपीओ अजय मिश्रा ने पैरवी करते हुए पक्ष रखा। द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश बिजावर श्री मनीष शर्मा के न्यायालय ने आरोपी रज्जू शर्मा, गुड्डा उर्फ आशीष शर्मा, दीपू शर्मा, रामकृपाल शर्मा, वीरेन्द्र शर्मा को हत्या का दोषी पाते हुए सभी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।