अनियमितता एवं लापरवाही बरतने पर उप महाप्रबंधक, प्रबंधक एवं सहायक प्रबंधक निलंबित

भिण्ड, 22 जुलाई। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा अनियमितता, कर्तव्य में लापरवाही बरतने और कर्तव्य के प्रति सजग नहीं रहने के आरोप में उप महाप्रबंधक (चालू प्रभार) यशपाल सचदेवा, प्रबंधक पुलस्थ पाण्डे एवं सहायक प्रबंधक एमसी गुप्ता को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।
मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक ग्वालियर क्षेत्र राजीव गुप्ता ने बताया कि भिण्ड वृत्त के गोहद संभाग में पदस्थ यशपाल सचदेवा उप महाप्रबंधक (चालू प्रभार) को अपने कर्तव्य स्थल एवं मुख्यालय से बिना अनुमति अनुपस्थित पाए जाने, आबादी फीडर से कृषि फीडरों की टैपिंग अवैध रूप से जुड़ी पाए जाने, राजस्व वसूली कार्यों में लापरवाही बरतने के साथ ही पदीय दायित्वों के निर्वहन में अनियमितता बरतने के चलते मप्र सिविल सेवाएं (वर्गीकरण नियम एवं अपील) नियम 1966 के नियम 9(१) के अनुसार तत्काल प्रभाव से निलंबित कर मुख्यालय गुना वृत्त कार्यालय नियत किया गया है। इसी प्रकार भिण्ड वृत्तांतर्गत गोहद संभाग में पदस्थ प्रबंधक पुलस्थ पाण्डे एवं सहायक प्रबंधक एमसी गुप्ता को चितौरा उपकेन्द्र से निर्गमित चितौरा आबादी फीडर से कृषि फीडरों की टैपिंग अवैध रूप से जुड़ी पाए जाने, राजस्व वसूली कार्यों में लापरवाही बरतने के साथ ही पदीय दायित्वों के निर्वहन में अनियमितता बरतने के चलते मप्र सिविल सेवाएं (वर्गीकरण नियम एवं अपील) नियम 1966 के नियम 9(१) के अनुसार तत्काल प्रभाव से निलंबित कर क्रमश: मुख्यालय श्योपुर वृत्त कार्यालय एवं मुरैना वृत्त कार्यालय नियत किया गया है।
मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक गणेश शंकर मिश्रा ने कहा है कि उपभोक्ता सेवा सर्वोपरि है। उपभोक्ताओं को कंपनी बेहतर से बेहतर सेवाएं देने के लिए कृत संकल्पित है और इसी दिशा में काम किया जा रहा है। उन्होंने मैदानी अधिकारियों से कहा कि वे उपभोक्ता सेवा और कंपनी की योजनाओं का लाभ पात्र उपभोक्ताओं को प्रदान करें तथा सजगता से कार्य करें तथा अधिकारियों और कर्मचारियों को सचेत किया कि आर्थिक अनियमितताओं के मामलों में सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने अधिकारियों और कर्मचारियों से अपेक्षा की है कि कंपनी और उपभोक्ताओं के हितों का हमेशा ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि कंपनी के कार्य निष्पादन में किसी भी लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।