अभियान चलाकर जांचें यात्री व स्कूल बसों की फिटनेस : कलेक्टर

सडक सुरक्षा एवं यातायात को लेकर हुई अहम बैठक

भिण्ड, 30 दिसम्बर। विशेष अभियान चलाकर स्कूली वाहन एवं बसों सहित सभी प्रकार के यात्री वाहनों की फिटनेस, परमिट एवं सुरक्षा संबंधी सभी जांचें बारीकी से करें। जिन यात्री व स्कूली वाहनों में सुरक्षा मानकों का ध्यान नहीं रखा जा रहा है, उन्हें बंद कराएं। इस आशय के निर्देश कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने सडक सुरक्षा एवं सुगम यातायात को लेकर जिला स्तर पर आयोजित हुई अहम बैठक में दिए। उन्होंने जोर देकर कहा कि यात्रियों व स्कूली बच्चों की सुरक्षा के साथ कोई समझौता न हो।
कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने स्कूली वाहनों के परमिट सहित सभी दस्तावेजों की बारीकी से जांचकर सुरक्षा मानकों की पूर्ति कराने के निर्देश दिए। साथ ही परिवहन अधिकारी व यातायात पुलिस के अधिकारियों को हिदायत दी कि बिना फिटनेस, बिना परमिट एवं बिना बीमा के चल रहे वाहनों को सख्ती से रोकें। नियम विरुद्ध चल रहे वाहनों पर कार्रवाई में कोई ढिलाई न हो। उन्होंने कहा बसों में आपातकालीन द्वार, अग्निशमन यंत्र एवं प्राथमिक चिकित्सा के लिए फस्र्ट एड बॉक्स अनिवार्यत: होना चाहिए।
जिला शिक्षा अधिकारी को कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जिले के समस्त स्कूलों में बच्चे किस-किस माध्यम से आवागमन करते हैं, इसकी जानकारी निश्चित समयावधि में उपलब्ध कराएं। उन्होंने स्पष्ट किया कि जिला परिवहन अधिकारी, यातायात पुलिस एवं जिला प्रशासन के अधिकारी द्वारा संयुक्त कार्रवाई की जाए, जिससे यात्रियों एवं बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में पुलिस अधीक्षक असित यादव, एएसपी संजीव पाठक, जिला परिवहन अधिकारी स्वाति पाठक एवं जिला शिक्षा अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।
बिना दस्तावेजों के चल रहीं बसों की मांगी जानकारी
यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर जन सामान्य से भी वाहनों की फिटनेस व दस्तावेजों के संबंध में परिवहन विभाग ने जानकारी मांगी है। जिला परिवहन अधिकारी स्वाति पाठक ने बताया कि बसों सहित अन्य सवारी वाहनों के समस्त दस्तावेज ऑनलाइन देख सकते हैं। एप किसी भी एंड्रॉयड फोन से आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है। किसी भी व्यक्ति को कोई भी बस बिना दस्तावेजों के भिण्ड जिले में चलती मिले तो वह उसकी शिकायत जिला परिवहन कार्यालय भिण्ड में कर सकता है।