डाकघर के माध्यम से पहुंचाए जा रहे हैं मतदाताओं के वोटर कार्ड : कलेक्टर

कलेक्टर ने प्रेस वार्ता में मतदाता सूची के प्रकाशन एवं चुनाव से संबंधित गतिविधियों से कराया अवगत

भिण्ड, 02 अगस्त। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी संजीव कुमार श्रीवास्तव ने बुधवार को जिला पंचायत सभागार में पत्रकारों से प्रेस वार्ता कर मतदाता सूची के प्रकाशन एवं चुनाव से संबंधित गतिविधियों से अवगत कराया। इस दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मनोज कुमार सरियाम, अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजकुमार खत्री, संयुक्त कलेक्टर रवी मालवीय के अलावा प्रिंट एवं इलैक्ट्रोनिक मीडिया के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
कलेक्टर संजीव कुमार श्रीवास्तव ने मीडिया बंधुओं का परिचय प्राप्त करने के बाद उन्होंने चुनाव से संबंधित जानकारी देते हुए बताया कि जिले में पांच विधानसभा क्षेत्र हैं, जिसके अंतर्गत अटेर विधानसभा क्षेत्र में एक लाख 27 हजार 464 पुरुष एवं एक लाख चार हजार 882 महिला मतदाता हैं। इसीप्रकार विधानसभा क्षेत्र भिण्ड में एक लाख 43 हजार 641 पुरुष एवं एक लाख 365 महिला, विधानसभा क्षेत्र लहार में एक लाख 37 हजार 912 पुरुष, एक लाख 14 हजार 853 महिला, विधानसभा क्षेत्र मेहगांव में एक लाख 47 हजार 995 पुरुष एवं एक लाख 22 हजार 86 महिला एवं विधानसभा क्षेत्र गोहद अजा में एक लाख 25 हजार 585 पुरुष एवं एक लाख चार हजार 685 महिला कुल सभी विधानसभा क्षेत्रो में छह लाख 82 हजार 597 पुरुष एवं पांच लाख 66 हजार 871 महिला मतदाता हैं। इसके साथ ही विधानसभा अटेर में दो टीजी, तीन हजार 745 सर्विस, विधानसभा भिण्ड में दो टीजी, तीन हजार 260 सर्विस, विधानसभा लहार में पांच टीजी, 914 सर्विस, विधानसभा मेहगांव में दो टीजी, दो हजार 955 सर्विस, विधानसभा गोहद अजा में तीन टीजी, एक हजार 69 सर्विस मतदाता हैं।
जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीवास्तव ने बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार बुधवार को जिले के सभी मतदान केन्द्रों पर मतदाता सूची का प्रारूप प्रकाशन किया जा चुका है। जिले में कुल मतदान केन्द्रों की संख्या एक हजार 476 है। जिसकी विधानसभावार जानकारी भी उपलब्ध कराई गई। जिसके अंतर्गत विधानसभा क्षेत्र नो-अटेर में 288, विधानसभा क्षेत्र 10-भिण्ड में 296, विधानसभा क्षेत्र 11-लहार में 296, विधानसभा क्षेत्र 12-मेहगांव में 320 एवं विधानसभा क्षेत्र 13-गोहद अजा में 276 मतदान केन्द्र है। कुल सभी विधानसभा क्षेत्रों में 1476 मतदान केन्द्र हैं।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रेसवार्ता में जानकारी देते हुए बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार बुधवार को मतदाता सूची के प्रारूप प्रकाशन उपरांत द्वितीय संक्षिप्त पुनरीक्षण के दौरान कार्यक्रम 31 अगस्त तक चालू रहेगा तथा 12, 13, 19 व 20 अगस्त को विशेष शिविर आयोजित किए जाएंगे, जिसके दौरान मतदाता सूची में नाम जोडने काटने व संशोधन का कार्य होगा, जिसके साथ-साथ विधानसभा आम निर्वाचन 2023 को दृष्टिगत रखते हुए ऐसे नागरिक जिनकी आयु एक अक्टूबर 2023 को 18 वर्ष या उससे अधिक है, तो उनके नाम भी निर्धारित प्रारूप में फार्म भरा जाकर जोडे जाएंगे। संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान नियत अवधि दो से 31 अगस्त तक प्रत्येक मतदान केन्द्र पर बीएलओ कार्यालयीन समय में उपस्थित रहेगा, जिसके पास उक्तानुसार नाम जोडने, घटाने व संशोधन के लिए आयोग से निर्धारित प्रारूप क्रमश: 6, 7 व 8 उपलब्ध रहेंगे। आयोग के निर्देशानुसार राजनैतिक दल द्वारा नियुक्त बीएलए प्रत्येक मतदान केन्द्र पर इस अवधि में उपस्थित रह सकते हैं।
वर्तमान में निर्वाचन आयोग द्वारा ऐसी व्यवस्था की गई है कि मतदाताओं के निवास पर डाकघर के माध्यम से नि:शुल्क वोटर कार्ड पहुंचाए जा रहे हैं। मतदाताओं से ऐसी अपेक्षा की गई है कि यदि उनके वोटर कार्ड में मोबाइल नंबर, पता आदि से संबंधित जो भी संशोधन है, तो वे निर्धारित प्रारूप 8 पर वोटर हेल्प लाईन एप के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। आयोग द्वारा टोल फ्री नं.1950 चालू किया गया है, जिसके लिए जिले पर डिस्ट्रिक्ट कॉन्टेक्ट सेंटर स्थापित किया गया है, जहां मतदाता व आम नागरिक निर्वाचन से संबंधित समस्या का समाधान एवं सुझाव/ शिकायत दर्ज करा सकते हैं। विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण 2023 के अंतर्गत मतदाता सूची में अधिक से अधिक नवीन/ युवा मतदाताओं के नाम ऑनलाईन जोडने हेतु क्यूआर कोड जारी किया गया है, जिसके माध्यम से फार्म 6 भरने हेतु प्रेरित करने के लिए क्यूआर कोड की डिजाइन का व्यापक प्रचार प्रसार कराया जा रहा है। जिले का जेण्डर रेशो बढ़ाने के लिए स्वीप प्लान के माध्यम से अधिक से अधिक महिला मतदाताओं के नाम जोडने हेतु व्यापक अभियान चलाकर उन्हें प्रेरित किए जाने का प्रयास किया जा रहा है। फोटोयुक्त निर्वाचक नामावली का अंतिम प्रकाशन चार अक्टूबर को किया जाएगा। पत्रकारवार्ता के दौरान पत्रकारों ने चुनावी कार्य में सहयोग करने की बात कही।
अघोषित विद्युत कटौती, आवारा गायों का मुद्दा उठाया
नवागत कलेक्टर संजीव कुमार श्रीवास्तव की प्रेसवार्ता में अघोषित बिजली कटौती और सडकों पर घूम रही आवारा गाय मवेशियों का मुद्दा प्रमुख रूप से उठाया गया। पत्रकारों ने सामूहिक रूप से बिजली की अघोषित कटौती, जर्जर बिजली केबिल का अचानक आग लगाना टूटना, ट्रांसफार्मर का फुंकना और लंबे समय तक लोगों के संघर्ष के बाद रखा जाना जैसी समस्याओं और जिले में बिजली संबंधित किसी समस्या के लिए फोन लगाया जाए और बिजली विभाग के अधिकारियों द्वारा फोन न उठाने जैसी समस्याओं से कलेक्टर को अवगत कराया। इसके आवारा मवेशियों का सडकों पर घूमना और बैठना तथा गौशालाओं में गायों को न रखने जैसी समस्याओं के साथ आवारा मवेशियों द्वारा किसानों की फसल को नष्ट करना, हाइवे सहित अन्य मार्गों पर अधिकतर दुर्घटनाएं आवारा मवेशियों की वजह से होने का मामला कलेक्टर के संज्ञान में लाया गया।