मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर योजना ने बदली रवीसिंह की जिंदगी

स्वयं का रोजगार स्थापित कर बने आत्मनिर्भर

भिण्ड, 26 मई। जिले के ग्राम वरौना निवासी युवा रवीसिंह गुलाबपुरा में नौकरी करते थे, कोविड-19 के दौर में अचानक लॉकडाउन के कारण उनका रोजगार चला गया। आय बंद होने से रवीसिंह को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था, कुछ दिन बाद आजीविका मिशन टीम द्वारा मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर योजना के बारे में जानकारी दी गई कि स्ट्रीट वेंडर योजनांतर्गत बैंक द्वारा दस हजार रुपए का ऋण दिया जा रहा है, जिससे आप अपना स्वयं का रोजगार शुरू कर सकते हैं।
उक्त योजना के तहत रवीसिंह ने किराने की दुकान स्थापित करने के लिए आवेदन किया। जिसे जनपद पंचायत से सत्यापित कर बैंक भेज दिया गया और कुछ दिन बाद बैंक द्वारा ऋण स्वीकृत हुआ। उन्होंने 10 हजार रुपए की राशि से किराने की दुकान खोलकर अपना धंधा शुरू किया। रवीसिंह बताते हैं कि मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर योजना ने उनके जीवन में उत्साह का प्रकाश ला दिया है। अब दूसरे के यहां काम नहीं करके खुद दुकान के मालिक बन गए हैं। आय भी अच्छी हो रही है। वे बताते हैं इस दुकान को और बढ़ाएंगे, जिससे आय बढ़ सके।
रवीसिंह ने बताया कि उनके जीवन में मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेण्डर योजना बदलाव की बहार लेकर आई है। इस योजना से लाभान्वित होकर स्वयं का रोजगार स्थापित कर अच्छी आय प्राप्त कर रहें, जो कि मेरे लिए बहुत खुशी की बात है। मैं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने कोरोनाकाल में हुए बेरोजगार भाईयों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए स्ट्रीट वेंडर जैसी योजना शुरू की।