समूचा जिला भीषण सर्दी की चपेट में, पारा पहुंचा नौ डिग्री सेल्सियस पर

भिण्ड, 30 दिसम्बर। इस समय समूचा भिण्ड जिला भीषण सर्दी की चपेट में है। जिले के लोगों ने शनिवार का दिन सर्वाधिक ठण्डा महसूस किया। पिछले चार पांच दिन से पड रहे घने कोहरे एवं सर्द हवाओं ने हर उम्र के लोगों को कडाके की सर्दी का एहसास करा दिया है। भीषण सर्दी के चलते भिण्ड जिले में एक तरह से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है।
शनिवार को कडाके की सर्दी के दौरान जब लोगों ने गूगल पर सर्च कर भिण्ड जिले का तापमान देखा तो जिले का पारा नौ डिग्री सेल्सियस पर था। अत्यधिक सर्दी के चलते लोग घरों में दुबकने के लिए मजबूर हो गए हैं। जिले के अधिकांश बाजारों में सन्नाटा पसरा नजर आ रहा है। केवल जरूरतमंद लोग ही बाजारों में सौदा सामग्री खरीदने के लिए पहुंच रहे हैं और व्यापारी भी अपनी अपनी दुकानों के बाहर सडक पर बोरा, पुष्ठा, कूडा-कचरा जलाकर सर्दी से निजात पाते दिखाई दे रहे थे। इसके अलावा कस्बे के लोग दिनभर गर्म कपडे धारण किए आग का घरो में सहारा लेकर सर्दी से बचाव करने की कोशिश में लगे दिखाई दे रहे थे। जिले में अधिकांश जगह कोहरे के साथ साथ बर्फीली हवाओं असर देखने को मिल रहा है। दोपहर 12 से दो बजे के बाद भगवान भास्कर के दर्शन हो रहे हैं। ऐसे में पशु-पक्षियों का भी बहुत बुरा हाल है।
सर्दी का कहर जारी
बीते दिनों से लगातार कोहरे की दस्तक एवं आसमान मे बादलों की गहमा गहमी के कारण सूर्यदेव के दर्शन दुर्लभ होने के कारण चहुओर सर्दी के प्रकोप से लोग परेशानी का अनुभव करने लगे हैं, वहीं बूढे और बच्चों को सबसे अधिक दिक्कत का सामना करना पड रहा है। भिण्ड शहर के नवादा क्षेत्र में दो अबोध बालक सर्दी के कारण आग के पास बठे हुए हाथ सेकते नजर आए। जिन्हें देखकर लगता है कि सर्दी के प्रकोप के चलते प्राइमरी स्कूल में पढने के लिए जाने वाले बच्चों के साथ क्या गुजरती होगी। ऐसे में शासन प्रशासन को छोटे-छोटे बच्चों की सेहत को ध्यान में रखते हुए प्राइमरी स्कूल की छुट्टी कर देना उचित होगा।