सफलता ही जीवन का अभिन्न अंग है : डॉ. डीके शर्मा

छात्र-छात्राओं का हुआ सम्मान

भिण्ड, 15 फरवरी। किसी भी देश का भविष्य विद्यार्थियों पर निर्भर करता है, वही देश के विकास में विद्यार्थी वर्ग का अहम योगदान होता है। जीवन में सफलता पाना अत्यंत आवश्यक है, इसके लिए बच्चों को कठिन परिश्रम करना ही पड़ेगा। सफलता जीवन का अभिन्न अंग है। यह बात जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. डीके शर्मा ने मंगलवार को एक निजी कोचिंग संस्थान पर आयोजित छात्रों के सम्मान समारोह में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में कहीं। कार्यक्रम में प्रो. इकबाल अली, नितिन दीक्षित, महेन्द्र चौधरी, शैलेश सक्सेना, विपुल सेठ, कुलदीप लोहिया, अरविंद पावक, जयप्रकाश शर्म, विकास कुशवाहा, दीपक प्रजापति आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की प्रतिमा पर अतिथियों ने माल्यार्पण कर किया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अधिवक्ता महेन्द्र चौधरी ने कहा कि विद्यार्थियों को अपने जीवन में सकारात्मक सोच रखनी होगी, क्योंकि नकारात्मक सोच कमजोर बना देती है। उन्होंने कहा कि आप लोगों की वार्षिक परीक्षा प्रारंभ होने जा रही है, जिसमें आप सभी को सफलता प्राप्त करनी है। इसी क्रम में एमजेस महाविद्यालय की प्रो. श्रीमती ममता भदौरिया ने कहा कि शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है, जिससे चरित्र निर्माण एवं व्यक्तित्व का समग्र विकास किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के साथ हमें अपने कौशल और व्यक्तित्व को और अधिक लिखा करना है, उन्होंने विद्यार्थियों का असमर्थता का भाव रखते स्वच्छता को अपनाने और अनुशासित रखने का आह्वान किया। इस अवसर पर अंशुल शर्मा, दिग्विजय सिंह गुर्जर, निम्रा सिद्धकी, पलक चौहान, देवराज यादव आदि उपस्थित थे।

इन विद्यार्थियों का किया सम्मान

सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि डॉ. डीके शर्मा, विशिष्ट अतिथि श्रीमती ममता भदौरिया और महेन्द्र चौधरी ने प्रथम द्वितीय और तृतीय रहे छात्र-छात्राओं में कल्याणी शर्मा, प्रगति सोनी, आर्यन शर्मा, अटल गुर्जर, सुरभि मिश्रा, किशनवीर सिंह गुर्जर, निष्कर्ष जैन आदि विद्यार्थियों का सम्मान किया गया।