पीएचई विभाग एक, एरियर अलग-अलग क्यों : शर्मा

पीएचई कार्यालय पर अनिश्चितकालीन धरना शुरू

भिण्ड, 01 अगस्त। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में एरियर का भुगतान कर्मचारियों को अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग बरसों में किया जा रहा है। भोपाल संभाग में 2003 से, तो ग्वालियर में 2004 से एवं भिण्ड पीएचसी कर्मचारियों को 2005 से एरियर भुगतान किया जा रहा है, जो अनुचित है। ग्वालियर और भोपाल में समस्त कर्मचारियों को एरियर भुगतान हो चुका है तो भिण्ड जिले में 50 प्रतिशत से अधिक कर्मचारी अपने एरियर के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। कोई भी जनप्रतिनिधि इस गंभीर समस्या पर ध्यान नहीं दे रहा है। यह बात सेंटर ऑफ इंडिया ट्रेड यूनियन सीटू के जिला उपाध्यक्ष अशोक शर्मा ने पहले दिन धरने पर चर्चा के दौरान कही।
सीटू जिला अध्यक्ष विनोद सुमन की अध्यक्षता में पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार मंगलवार को लोक स्वास्थ्य यांत्रिक विभाग कार्यालय पर अनिश्चित कालीन शुरू किया गया, जो सुबह 10 बजे से दो बजे तक चला। जिसमें केवल पांच लोगों ने धरना दिया। बुधवार को दोपहर 11 बजे से शाम चार बजे तक धरना दिया जाएगा जो आगे भी कार्यालय खुलने के समयानुसार चलता रहेगा।
सीटू जिला अध्यक्ष विनोद सुमन कहा कि एक पोस्ट के लिए तीन तीन वेतन पे ग्रेड चल रही है, कुछ कर्मचारी को 1900, तो कुछ को 1800, कुछ को 1300 का भुगतान किया जा रहा है। जिसे अविलंब दूर किया जाए। पीएचई कार्यालय पर धरना अधिक दिनों तक चलाने की तैयारी करनी पडेगी तभी भ्रष्टाचार के कारण कुंभकर्ण की नींद में सोया हुआ प्रशासन जागेगा। आंदोलन का नेतृत्व करने वालों नरेन्द्र सिंह सेंगर, श्रीकृष्ण वाल्मीकि, सुमेर जैन, सालिगराम, रामप्रकाश वाल्मीकि आदि प्रमुख हैं। यह जानकारी प्रेस को जारी विज्ञप्ति में सीटू जिला महासचिव अनिल दौनेरिया ने दी है।