मेहगांव में विधिक साक्षरता एवं जागरुकता शिविर आयोजित

भिण्ड, 29 दिसम्बर। मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर तथा प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश/ अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण भिण्ड सुरभि मिश्रा के आदेशानुसार एवं जिला न्यायाधीश/ सचिव जिविसेप्रा भिण्ड हिमांशु कौशल के मार्गदर्शन में गुरुवार को न्यायाधीश मेहगांव हेमंत सविता की अध्यक्षता में टीडीएस उमावि मेहगांव में विधिक साक्षरता एवं जागरुकता शिविर आयोजित किया गया। जिसमें वरिष्ठ अधिवक्ता रामनिवास भदौरिया, रामहरी शर्मा, अजमेर सिंह नरवरिया, अखिलेख श्रीवास्तव आदि, विद्यालय के समस्त अध्यापकगण, छात्र-छात्राएं, न्यायालयीन कर्मचारी देवेन्द्र भारद्वाज उपस्थित रहे।
शिविर में विद्यालय के छात्र-छात्राओं को भारतीय संविधान के अंतर्गत प्रदत्त मूलभूत अधिकार एवं मौलिक कर्तव्यों के संबंध में तथा नालसा गरीबी उन्मूलन योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन के लिए विधिक सेवाएं योजना, 2015 के बारे में विस्तारपूर्वक समझाया गया। साथ ही विभिन्न प्रकार की कानूनी सलाह एवं सहायता प्रदान की गई। विधिक सहायता के संबंध में बच्चों को जानकारी देते हुए बताया कि ऐसे बालक जिन्होंने कानून के विरुद्ध कोई कृत्य किया है वह ‘धारा 12’ विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम 1987 के अंतर्गत नि:शुल्क विधिक सहायता हेतु पात्र हैं, जिसका लाभ वह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कार्यालय भिण्ड एवं तहसील विधिक सेवा समिति मेहगांव में उपस्थित होकर/ पत्र के माध्यम से अथवा किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष नि:शुल्क विधिक सहायता की मांग कर प्राप्त कर सकता है। इसके साथ ही सभी बच्चों को चाइल्ड हेल्प लाईन नं.1098 के संबंध में भी जानकारी दी एवं बच्चों द्वारा पूछे जाने वाले प्रश्नों का बहुत ही सरल एवं सहज भाषा में व्याख्यान किया गया।