वैक्सीनेशन महाअभियान में छूटे हुए लोग अपना टीका अवश्य लगवाएं : कलेक्टर

 वैक्सीनेशन का महाअभियान 27 को

जिला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति की बैठक आयोजित

भिण्ड, 25 सितम्बर। जिला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार भिण्ड में आयोजित की गई। जिसमें 27 सितंबर को वैक्सीनेशन महाअभियान में शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के संबंध में चर्चा की गई। बैठक में सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविन्द सिंह भदौरिया वर्चुअल रूप से उपस्थित रहे। सभागार में कलेक्टर डॉ. सतीष कुमार एस, पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह, एडीएम प्रवीण फुलपगारे, एसडीएम भिण्ड उदय सिंह सिकरवार, डिप्टी कलेक्टर एवं पीओ डूडा महेश बडोले, सीएमएचओ डॉ. अजीत मिश्रा, क्राइसिस मैनेजमेंट के सदस्यगण उपस्थित रहे।
वर्चुअल रूप से जुड़े प्रदेश के सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविन्द सिंह भदौरिया ने कहा कि वैक्सीनेशन के कार्य में अपना प्रदेश देश में प्रथम नंबर पर है। जिला प्रशासन द्वारा वैक्सीनेशन के संबंध में बहुत अच्छा कार्य किया जा रहा है। अभी तक जिले में 73 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। शेष बचे लोगों को 27 सितंबर को वैक्सीनेशन महाअभियान के अंतर्गत जिला प्रशासन द्वारा तैयार की गई टीमों एवं व्यवस्थाओं द्वारा लगाने का कार्य किया जाएगा। इस महाअभियान के अवसर पर वैक्सीनेशन का प्रथम डोज शत-प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को लगवाने के लक्ष्य को पूर्ण करें।
कलेक्टर डॉ. सतीश कुमार एस एवं पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने 27 सितंबर को वेक्सीनेशन महाअभियान के अंतर्गत सभी सामाजिक संगठन, राजनैतिक दल, स्वयंसेवी संस्थाएं, क्राइसिस मैनेजमेंट के सदस्य, पत्रकार और हम स्वयं अपनी व्यक्तिगत पहल से इस महाअभियान के अवसर पर वैक्सीनेशन का प्रथम डोज शत-प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को लगवाने में अपना सहयोग करें। कम से कम प्रत्येक व्यक्ति एक-दो व्यक्ति भी वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों को प्रेरित कर वेक्सीन लगवाएगा तो निश्चित ही शत-प्रतिशत वैक्सीन लगाई जा सकेगी। उन्होंने कहा कि अभी जिले में 72 प्रतिशत लोगों ने अपना वेक्सीनेशन करवा लिया है, शेष 27 प्रतिशत लोगों के अंतर्गत कुछ व्यक्ति ऐसे जो जिले से बाहर रहते हैं उनको भी घर के सदस्य या जान पहिचान वाले व्यक्ति वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा वैक्सीनेशन कराने के लिए मोबाईल वैनों का भी उपयोग किया जा रहा है, जो लोग वैक्सीन केन्द्र पर वेक्सीन लगवाने के लिए नहीं आ पा रहे हैं उनको घर पर ही मोबाईल वेन के माध्यम से वैक्सीन का टीका लगवाने की व्यवस्था की गई है। पूर्व में सीएमएचओ डॉ. अजीत मिश्रा ने 27 सितंबर को वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए की गई व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी से अवगत कराया।

‘कोई न छूटे’ कॉन्सेप्ट अच्छा जिंदा हो या मुर्दा?

27 सितंबर को होने जा रहा वैक्सिनेशन महाअभियान ‘कोई न छूटे’ पर चुटकी लेते हुए एक पत्रकार ने जब कलेक्टर सतीश कुमार एस से कहा कि सर सरकार ने महाअभियान का नाम तो अच्छा चुना ‘कोई न छुटे’ जिंदा हो या मुर्दा? इस बात पर सभागार में मौजूद सभी लोगों को हंसी आ गई, चूंकि मीडिया कर्मी का सवाल पूछना भी लाजिमी था, क्योंकि आए दिन मरे हुए लोगों को वैक्सिन लगने की खबरें जो प्रसारित हो रही थीं। हालांकि मीडियाकर्मी के इस सवाल के जवाब में सीएमएचओ डॉ. अजीत मिश्रा ने इतना ही कहा कि टेक्निकल प्रॉब्लम के कारण ऐसा हो जाता है, हमारी पूरी कोशिश रहेगी कि आगे ऐसी कोई गलती न हो, फिलहाल हमारा फोकस शत-प्रतिशत वैक्सिनेशन के लिए 27 सितंबर महाभियान पर है, जिसमें आप सभी मीडियाकर्मि भी सहयोग करें।