बालिका सम्मान समारोह एवं पुरस्कार वितरण कार्यक्रम आयोजित

भिण्ड, 24 जनवरी। राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर कलेक्टर डॉ. सतीश कुमार एस के निर्देशन में कलेक्ट्रेट सभागार भिण्ड में बालिका सम्मान समारोह एवं स्वस्थ बालक/ बालिका स्पर्धा और मध-निषेध कार्यक्रम के तहत पुरस्कार वितरण का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम में जिला कार्यक्रम अधिकारी अब्दुल गफ्फार खान ने स्वस्थ बालक/ बालिका स्पर्धा के तहत परियोजना स्तर से चयन होकर आए बालक/ बालिकाओं को पुष्प माला, प्रमाण पत्र व पुरस्कार देकर सम्मानित किया और सभी माताओं (स्वस्थ बालक स्पार्धा के बालकों/ बालिकाओं की) से आग्रह किया गया कि हम शपथ ले की हम अपने बच्चों का पोषण स्तर का हमेशा ध्यान रखेंगे, ताकि आपका बच्चा हमेशा स्वस्थ रहे। आंगनवाड़ी की भूमिका पर भी चर्चा की गई कि किस तरह से नियमित पोषण स्तर मानक का पालन करते हुए बच्चों को स्वस्थ बनाया जा सकता है।
विशिष्ट अतिथि समाज शास्त्र प्राध्यापक डॉ. आरए शर्मा ने जेंडर पर संबोधित करते हुए कहा कि हम बच्चो में भेद न करें, क्योंकि प्रकृति ने कोई विभेद नहीं किया है, यह समाज द्वारा निर्मित विभेद है, इसे मान्यता नहीं दी जा सकती है। विशिष्ट अतिथि परियोजना अधिकारी श्रीमती मनीषा मिश्रा ने उपस्थित सभी प्रतिभागियों को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत शपथ दिलाई। कार्यक्रम के अगले चरण में बाल संरक्षण अधिकारी अजय सक्सैना ने मध-निषेध कार्यक्रम के तहत नशे के दुष्परिणाम व होने वाली समस्याओं से अवगत कराया। आखिर में जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास विभाग ने सभी से आह्वान किया कि ऐसा कोई भी काम नहीं है जो हम न कर सकें या हमसे न होगा, दृढ़इच्छा शक्ति से असंभव भी संभव हो सकता है।
कार्यक्रम में विभाग से लेखापाल आनंद मिश्रा, जीतेन्द्र कुमार शर्मा, सहायक आकड़ा प्रविष्ठी प्रचालक योगेश कटारिया सहित लगभग 150 प्रतिभागी उपस्थित रहे। इसके पश्चात आयोजित विभिन्न गतिविधिओ में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले छात्रों को पुरस्कार दिया गया एवं छात्रों ने रंगोली, भाषण, बाद-विवाद, चित्रकला, निबंध लेखन जैसी विधाओं में बेटी बचाओ, नशा मुक्त मप्र, नशे के दुष्प्रभाव, स्वस्थ बालक स्पर्धा का संदेश दिया। अंत में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत हस्ताक्षर अभियान में अतिथिओं एवं समस्त प्रतिभागियों ने उत्साह पूर्वक भाग लेकर हस्ताक्षर किए। कार्यक्रम में सभी के लिए पुरस्कार के साथ स्वल्पाहार की व्यवस्था की गई। सभी को प्रमाण पत्र पुरस्कार प्रदान किए गए।