रामलीला में हुई अहिरावण बध की लीला

पूर्व विधायक राकेश शुक्ला ने की आरती

भिण्ड, 02 दिसम्बर। मां सरस्वती सामाजिक एवं धार्मिक रामलीला कला मण्डल मेहगांव द्वारा दंदरौआ सरकार महामण्डलेश्वर रामदास महाराज की अध्यक्षता में चल रही रामलीला में शुक्रवार की रात्रि में अहिरावण वध और राम-लक्ष्मण को पाताल लोक से छुडाने की लीला का मंचन स्थानीय कलाकारों द्वारा किया गया। रामलीला में प्रभु श्रीराम की आरती पूर्व विधायक राकेश शुक्ला ने की। उन्होंने रामलीला समिति को 21 हजार रुपए दान दिए।
रामलीला के मंचन में अहिरावण विभीषण का वेश धारण कर राम लक्ष्मण का हरण करके पाताल लोक ले जाता है, रामा दल में राम-लक्ष्मण के अदृश्य होने पर हा-हाकार मच जाता है, वहीं विभीषण बताते हैं कि प्रभु श्रीराम को अहिरावण पाताल लोक ले गया है, तब जामवंत ने संकट मोचन हनुमान से कहा कि राम-लक्ष्मण को रावण का भाई अहिरावण पाताल लोक ले गया है। हनुमान ने पाताल लोक देवी के मन्दिर में पहुंचकर देवी के मस्तक पर अपना मुष्टिक प्रहार किया और देवी मैया जमीन में समा जाती हैं, मन्दिर में हनुमान देवी का रूप धारण करके बैठ जाते हैं। जब अहिरावण राम-लक्ष्मण को बलि चढ़ाने देवी के मन्दिर में आता है उसी समय हनुमान अपने असली रूप में आकर युद्ध करते हुए अहिरावण का बध कर देते हैं। अहिरावण का अभिनय निभाने वाले भागीरथ सिंह गुर्जर ने अहिरावण लीला का मंचन में बाहर से लांगुरिया कलाकारों से देवी मां के भवन में जवारे और लांगुरिया की एक अनोखी प्रस्तुति की। जिसे देखकर श्रोताओं ने जय जयकार की। रामलीला देखने के लिए हजारों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे। इस मौके पर पूर्व विधायक राकेश शुक्ला ने मंच से भजन भी गए।