सबसे पिछड़े जिले की छवि को दूर करना ही मेरा उद्देश्य : कामना सिंह

भिण्ड, 29 जुलाई। जिला पंचायत कार्यालय में जिला पंचायत अध्यक्ष और जिला उपाध्यक्ष का चुनाव कराया गया। जिसमें श्रीमती कामना-सुनील सिंह भदौरिया पुत्रवधू केपी सिंह भदौरिया को अध्यक्ष और नंदराम बघेल को निर्विरोध उपाध्यक्ष चुना गया। चुनाव प्रक्रिया होने के पश्चात सर्किट हाउस पर प्रेसवार्ता की गई। जिसमें प्रदेश के सहकारिता मंत्री डॉ. अरविन्द सिंह भदौरिया, राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया, सदर विधायक संजीव सिंह कुशवाह, प्रदेश उपाध्यक्ष चौ. मुकेश सिंह, वरिष्ठ नेता अशोक भारद्वाज, जिलाध्यक्ष नाथूसिंह गुर्जर, केपी सिंह भदौरिया और नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष मौजूद रहे।
इस मौके पर जिलाध्यक्ष गुर्जर ने कहा कि आज भारतीय जनता पार्टी के प्रति प्रदेश में जो जनाधार देखने को मिल रहा है, वो वाकई प्रदेश सरकार द्वारा जनता में विश्वास देखने को मिल रहा है। साथ ही राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू के विरुद्ध कांग्रेस नेता अधीर रंजन द्वारा आपत्तिजनक वयान को लेकर कहा कि यह पद देश के सर्वोच्च पद के साथ साथ नारी शक्ति का अपमान है, देश की प्रथम नागरिक के लिए ऐसी टिप्पणी निंदनीय है, इसलिए मीडिया के माध्यम से मैं उन तक अपनी बात पहुंचाना चाहता हूं कि कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूरी कांग्रेस विशेषकर अधीर रंजन संपूर्ण देश से माफी मांगें।
नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कामना सुनील-सिंह भदौरिया ने मीडिया के माध्यम से भाजपा और क्षेत्र की जनता का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य जिले के पिछड़े हुए दाग को मिटाना है, आज जब भी भिण्ड जिले का नाम आता है तो बहुत ही पिछड़े हुए जिले के रूप में ही आता है, सबसे पहले हमें यह छवि दूर करनी होगी। वो छवि तभी दूर होगी जब भारतीय जनता पार्टी द्वारा लागू की गई विभिन्न योजनाएं प्रदेश के जन-जन तक पहुंचें, हम लोगों का यही प्रयास होगा कि पार्टी की सभी योजनाओं को जन जन तक पहुंचायें। मैंने एमबीए किया है और मैनेजमेंट करना मुझे आता है और मैं अपनी शिक्षा और अपने पिताजी (ससुर) के अनुभव से जिले कि तस्वीर बदलने का हर संभव प्रयास करूंगी।