बरसात से पहले पुल का निर्माण होना मुश्किल, थम सकता हैं वाहनों का आवागमन

भिण्ड, 18 मई। प्रदेश सरकार द्वारा आलमपुर कस्बे में सोनभद्रिका नदी पर 748.87 लाख रुपए की लागत से नवीन पुल का निर्माण कराया जा रहा है। बरसात से पहले नवीन पुल का निर्माण होना मुश्किल है। इसलिए आगामी बरसात के दिनों में आलमपुर रतनपुरा मुख्य मार्ग पर वाहनों का आवागमन कई दिनों तक थम सकता है।
विदित हो कि आलमपुर कस्बे में पिछले करीब एक वर्ष से सोनभद्रिका नदी पर नवीन पुल का निर्माण चल रहा है। नवीन पुल के निर्माण के चलते वाहनों के निकलने के लिए पिछले वर्ष ठेकेदार ने पुराने पुल के ठीक बगल में पाइप डालकर कच्चा पुल बना दिया था। जिस पर से वाहन निकलने थे। लेकिन बारिश के कारण जब सोनभद्रिका नदी उफान पर आई तो पानी के तेज बहाव के साथ कच्चा पुल बह गया था। इसके बाद ठेकेदार ने क्षतिग्रस्त पुराने पुल के दोनों ओर मिट्टी का भराव कराकर पुराने पुल से वाहनों के निकलने की व्यवस्था कर दी थी। लेकिन अब पुराने पुल के दोनों ओर नवीन पुल के दो-दो पिलर बन चुके है। इसलिए अब पुराने पुल से वाहनों का निकलना पूरी तरह से बन्द हो चुका है। तो वही वाहनों के निकलने के लिए ठेकेदार द्वारा पुराने पुल के ठीक बगल में रपटानुमा अस्थाई पुल बनाया गया है। जिस पर से वर्तमान में वाहन निकल रहे हैं। लेकिन रपटानुमा अस्थाई पुल की ऊंचाई बहुत ही कम है। बरसात में सोन भद्रिका नदी का जल स्तर बढऩे के पश्चात रपटानुमा अस्थाई पुल डूब सकता है। इसलिए बरसात के दिनों में आलमपुर रतनपुरा मुख्य मार्ग से लहार, दबोह, भाण्डेर, समथर, कोंच, उरई, जालौन, चिरगांव की ओर जाने वाले वाहनों का आवागमन कई दिनों तक थम सकता है।