भाजपा के शासन में ब्राह्मणों पर हो रहे अत्याचार को नहीं किया जाएगा बर्दाश्त

अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासभा संगठन ने मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

भिण्ड, 14 फरवरी। ब्राह्मण अंतर्राष्ट्रीय महासभा संगठन के जिलाध्यक्ष बाबा भगवान दास सैंथिया के नेतृत्व में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम कलेक्टर भिण्ड को ज्ञापन सौंपा गया।
ज्ञापन के माध्यम से बताया गया है कि कुछ दिन पूर्व तीन जनवरी 2022 को जिला कटनी में ब्राह्मण समाज की वरिष्ठ नेत्री श्रीमती चित्रा शर्मा के घर में घुसकर कुछ असामाजिक तत्वों ने बच्चों एवं बहू बेटियों के साथ मारपीट अभद्रता कर प्रताडि़त किया। लेकिन आज तक कटनी जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा अपराधियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने बताया जिला कटनी में भू माफियाओं द्वारा चरनोई की भूमि पर अवैध कब्जा कर लिया गया, जिसको लेकर ब्राह्मण समाज की नेत्री समाजसेवी चित्रा शर्मा द्वारा भू माफियाओं का विरोध किया गया तो भू माफियाओं ने चित्रा शर्मा एवं उनके परिवारजनों के साथ मारपीट कर प्रताडि़त किया तथा जान से मारने की धमकी दी थी।
ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष बाबा भगवानदास सैंथिया ने कहा कि जिला कटनी में ही नहीं बल्कि पूरे मप्र में भूमाफिया एवं रेत माफियाओं का बोलबाला चल रहा है, भाजपा के वरिष्ठ नेतागणों के इशारों पर पूरे मप्र में अवैध रेत का उत्खनन अपनी चरम सीमा लांघ चुका है तथा भूमाफिया पूरे प्रदेश में हावी हैं। मप्र के तमाम जिलों में अगर शासन जांच कराए तो सब सामने आ जाएगा, सरकारी जमीनों पर भू माफियाओं के अवैध कब्जे हैं और अगर कोई इन भू माफियाओं का विरोध करता है तो यह भूमाफिया अपराध करने से भी पीछे नहीं हटते, ऐसा ही कृत्य जिला कटनी में देखने को मिला है। उन्होंने कहा कि जो घटना जिला कटनी में एक ब्राह्मण समाज की वरिष्ठ नेत्री समाजसेवी चित्रा शर्मा के साथ घटित हुई है, उस पर मप्र सरकार को शीघ्र संज्ञान में लेते हुए असामाजिक तत्वों पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाए और अगर ऐसा नहीं होता है तो पूरे मप्र में प्रत्येक जिला स्तर पर ब्राह्मण समाज मप्र के मुख्यमंत्री का पुतला दहन करेगा तथा धरना प्रदर्शन कर आंदोलन करेगा।
इस अवसर पर समाज के वरिष्ठ नेता एडवोकेट नरेन्द्र चौधरी, प्रदेश प्रवक्ता मुकेश दीक्षित, समाजसेवी रमेशबाबू चौधरी, नरेश चौधरी एडवोकेट, दीपचंद तिवारी, अजय मिश्रा, ईश्वर दयाल समाधिया, एडवोकेट राजकिशोर समाधिया, नीरज त्रिपाठी, अंकुश सैंथिया, सुनील त्रिपाठी निराला, कृपाशंकर शर्मा, संतोष बोहरे, लाला पंडित, रविप्रकाश शर्मा, राजेश नरवरिया सहित कई लोग मौजूद रहे।