समाजसेवी बलवंत सिंह चौहान का निधन लोगों ने किया शोक व्यक्त

भिण्ड, 12 फरवरी। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कई दायित्वों का निर्वाह करने वाले वयोवृद्ध समाजसेवी, शिक्षाविद् बलवंत सिंह चौहान का गत शुक्रवार को निधन हो गया है। वह 87 वर्ष के थे। अमायन क्षेत्र के लोगों को जैसे ही उनके निधन की खबर लगी तो अमायन क्षेत्र शोक में डूब गया। उनका अंतिम संस्कार ग्रह ग्राम हरजूपुरा (अमायन) में किया गया। जहां पर मुखाग्नि ज्येष्ठ पुत्र क्षत्रिय विकास संघ के सह सचिव नरोत्तम सिंह चौहान ने दी। अंतिम संस्कार में सैकड़ों लोग शामिल हुए।
बताया जाता है कि श्री चौहान वर्षों तक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े रहे और पूर्ण जिम्मेदारी के साथ संघ के अनेक दायित्वों का निर्वाह किया। उन्होंने आचार्य गिरिराज किशोर, महीपत बालकृष्ण चिकटे, मामा माणिकचंद वाजपेयी, लक्ष्मण राव तराणेकर जैसे वरिष्ठ संघ प्रचारकों के सानिध्य में संघ के लिए कार्य किया है। इसके अलावा वह अमायन क्षेत्र में शिक्षा की अलख जगाने के लिए प्रतिबद्ध रहे। विषम परिस्थितियों में श्रीमंत विजयाराजे सिंधिया महाविद्यालय अड़ोखर (भिण्ड) में अध्यक्ष रहे। चौहान ने निधन पर अमायन क्षेत्र के नागरिकों के अलावा क्षत्रिय विकास संघ अमायन से जुड़े लोगों ने गहरा दुख व्यक्त करते हुए शोक संवेदना व्यक्त की है।