पंचायत सचिव के गांव एवं ग्वालियर स्थित ठिकानों पर ईओडब्ल्यू का छापा

गोहद जनपद क्षेत्र की ऐंचाया पंचायत में पदस्थ है सचिव

 – रविन्द्र बाेहरे

भिण्ड, 09 फरवरी। ईओडब्ल्यू की टीम द्वारा गोहद जनपद पंचायत के ऐंचया में पदस्थ पंचायत सचिव के गोहद एवं ग्वालियर स्थिति मकानों पर एक साथ हुई छापेमारी में आय से अधिक संपत्ति मिली है, गोहद जनपद पंचायत प्रदेश की सबसे भ्रष्ट जनपद है, यहां दूध का नहीं, अपितु भैंस सहित खोआ किया जाता है। मनरेगा इनके लिए कमाई का सबसे बड़ा साधन है, वहीं सरपंचों का कार्यकाल बढऩा सोने पर सुहागा ऐंचया पंचायत में पदस्थ सचिव तो एक बानगी है, अगर अन्य सचिवो के खातों व संपत्ति को टटोला जाए तो धनकुबेरों की श्रंखला स्थापित हो जाएगी। ग्वालियर में पंचायत सचिव के यहां ईओडब्ल्यू का छापा पड़ा है, उसमें अकूत संपत्ति मिली है।


जानकारी के अनुसार रोशन सिंह गुर्जर पंचायत सचिव ऐंचया पिपरोली, गोहद जिला भिण्ड के दो स्थानों पर ईओडब्ल्यू की टीम द्वारा छापे की कार्रवाई की जा रही है। ग्वालियर में इन्द्रा नगर में सचिव के मकान पर जहां कार्रवाई जारी है। वहीं गोहद के पैतृक मकान पर भी कार्रवाई हो रही है। इन्द्रा नगर में सचिव के नाम 19 लाख कीमत का मकान, लड़के सोरभ के नाम दो बीघा जमीन गोहद, पत्नी रेखाबाई के नाम दो बीघा जमीन बनिपुरा गोहद, बेनामी संपत्ति में ससुर भारत सिंह के नाम मेन रोड की जमीन दो बीघा 70 लाख, पैतृक गांव में निर्माणाधीन मकान 1500 वर्ग फीट, बोलेनो कार सचिव के नाम, मोटर साइकिल, दो ट्रैक्टर, गोल्ड ज्वैलरी 6.75 लाख कीमत की, सिल्वर ज्वैलरी 45 हजार की, कैश लगभग 17 हजार रुपए, बैंक पासबुक आठ खाते आदि प्रमुख हैं।
ईओडब्ल्यू एसपी अमित सिंह के अनुसार कार्रवाई जारी है। 22 वर्ष की नौकरी से अर्जित आय 26 लाख 33 प्रतिशत खर्चा काटकर शेष बची राशि 17 लाख संपति निकली, 1.5 करोड़ ग्वालियर में टीम के द्वारा जांच जारी है। इस कार्रवाई में डीएसपी ईओडब्ल्यू सत्यवीर चतुर्वेदी, इंस्पेक्टर नीतू गुर्जर, कारुल चंदेल, डॉ. जयसिंह यादव, कांस्टेबल सिखपाल, अभिषेक चौहान, देवेन्द्र सिंह, सत्यप्रकाश महिपत और विनोद आदि शामिल रहे।